Poems

😊

Hey everyone, how are you all? Its been a really tiring week for me. Not a single post from two weeks 😬. Aap sab log kaise h?

Poems

बेटियाँ

समाज का ये नियम ज़रा, समझ नहीं आया बेटी सिर्फ बचपन में ही बेटी कहलाती है बड़ी होकर बस इज़्ज़त बनकर रह जाती है 😑😑😑😑😑😑😑😑

Poems

सवाल जवाब

आज किसी ने आखिर पूछ लिया कौन सा ऐसा दर्द है जो तुझे बे वक़्त सताता है और आँखे नम कर जाता है मैंने कहा, वो प्यार ही क्या जिसमें दर्द न हो और वो अश्क ही क्या जिसमें उनकी तस्वीर न हो यूँ तो उन्हें पाने की ज़िद नहीं बस, जिस प्यार में उनकी… Continue reading सवाल जवाब

Poems

स्याही

हमने सोचा, काश दिल की कलम से तेरा नाम लिख लू जो बात लफ़्ज़ों तक न आये उसे कागज़ पे उतार लू सपने हकीक़त तो हुए बस स्याही ने रंग बदल लिया मेरे हर जज़्बातों को काला कर दिया

Uncategorized

वो जलती चिंगारी🚬

उन जलती चिंगारियों ने कहा🚬 इस धुंए में ऐसी क्या खुशी जो तुझे इंसानों में न मिली मैंने कहा, लोग तो कुछ पल की खुशी देकर ज़िंदगी भर का ग़म दे जाते है और उस रंज में धुंए कुछ पल की खुशी बरसा जाते है

Uncategorized

बस यहीं दोस्ती है

दोस्ती, बस दोस्ती है जो सुबह चाय के प्याले से शुरू हो और रात धुंए में खत्म हो वहीं दोस्ती है कई बातें कह जाते है कई बातें रह जाती है मगर फिर भी जो साथ हँसते है वहीं दोस्ती है वक़्त का हिसाब नहीं रहता और पैसे का हिसाब करते नहीं यार तेरे लिए… Continue reading बस यहीं दोस्ती है

Uncategorized

किताब के पन्ने

कहते है, किताबों के पन्नो को कभी गुस्से से पलटना नहीं चाहिए हर एक पन्ना गवाह है उस मोड़ का जो ज़िंदगी में दोबारा नहीं आते कहीं गलती से एक पन्ना भी फट जाए तो यादें बिखर जाती है क्योंकि लोग तो जी कर कब का भूल जाते है उसे वो लिखी हुई बातें ही… Continue reading किताब के पन्ने

Uncategorized

इश्क़ और दोस्ती (Hindi Version)

हमने इश्क़ क्या कर ली दोस्ती हमसे खफा हो गई समझाया उसे बहलाया उसे की तू तो थी बस मेरे ग़म का साथ असल जिंदगी तो निभानी है इश्क़ के साथ इस बात पे वो कह पड़ी, जा मान ली मैंने तेरी बात, मगर इस शर्त के साथ अगर निकला इश्क़ बेवफा, खुद को न… Continue reading इश्क़ और दोस्ती (Hindi Version)

Uncategorized

बारिशें

कभी कभी सोचती हूँ तुम बारिशों की तरह हो बिन बुलाए आते भी हो हमें भिगाते भी हो और जाने के साथ-साथ ठंडक भी दे जाते हो दिल तो ये इंतज़ार में रह जाता है की वापस कब मुलाकात होगी और बारिश की उन बूंदों की झलक हमें दोबारा कब नसीब होगी मगर तुम, बस… Continue reading बारिशें